Emotional love Story in Hindi

ये Emotional Love Story in Hindi मेरी कहानी है जब मैंने अपने इंटरमीडिएट की परीक्षा के बाद ग्रेजुएशन में दाखिला लिया था और मेरे पहले प्यार ने मुझे इसकदर घायल किया था की मै अब तक उस दर्द से नहीं उभर पाया था

नमस्कार दोस्तो कैसे है आप सब उम्मीद करता हूं आप सब अच्छे होंगे, अपने अपने घरों ने होंगे खुश होंगे और हमारी ये Emotional Love Story in Hindi पढ़ रहे होंगे 

मेरा प्यार अधूरा होकर भी पूरा था(Love Story)


मैंने ग्रेजुएशन में दाखिला के बाद क्लासेज अटेंड करने का फैसला लिया क्योकि मैं उस दर्द से निकल कर आगे बढ़ना चाहता था, अपनी लाइफ में कुछ करना चाहता था

मुझे आज भी याद है वो कॉलेज का पहला दिन जब मै क्लास में था सब लड़के - लड़कियों से अपनी जान पहचान बढ़ा  रहे थे और मैं गुमसुम सा कहीं खोया हुआ था, 

हर रोज मैं कॉलेज जाता था " हर रोज से मेरा मतलब जब कॉलेज खुला रहता था " और मै जाकर एक कोने की सीट पर बैठ जाता और बस कहीं खो जाता था ।

Emotional love Story in Hindi
Emotional love Story in Hindi | मेरा प्यार अधूरा होकर भी पूरा था

ऐसे ही दिन बीतते चले गए मुझे नहीं पता था कि कोई मेरे ऊपर नजर रख रहा है क्यूंकि मै तो अपने ही धुन में कहीं खोया सा रहता था 

पर मुझे कुछ दोस्तों ने बताया की कोई तुमपर नजर रख रहा है मैंने उन्हें इग्नोर कर दिया क्यूंकि वो अक्सर ऐसी बाते कहते रहते थे 

पर मुझे नही पता था की शायद वो इस बार सच बोल रहे है, पर मुझे अजीब तब लगा जब मैंने सच में ये महसूस किया कि हां कोई तो है जो मुझपर नजर रख रहा है 

पर फिर भी मैंने Ignore किया क्यूंकि मै नही चाहता था की मेरा दिल फिर से टूटे।

लेकिन एक दिन वो अचानक मेरे पास आई और मेरे बगल वाले चेयर पर बैठ गयी 
और बोली : Hii I am Nidhi,

 मैंने थोड़ी देर सोचा और फिर हिचकिचाते हुए बोला : Hey I am Rohan ,

Emotional love Story in Hindi

और फिर मैंने उसे Ignore कर दिया और वो चली गयी और बाद में मुझे अहसास हुआ की मुझे उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहिए था 

और मैंने ये सोचा किया की कल Collage जाकर मैं उससे माफ़ी मागूंगा और मै अगले दिन Collage चला गया 

पर वहां जाने के बाद मुझे पता चला की वो तो आई ही नही है और कुछ देर तक जांच - पड़ताल करने के बाद मुझे पता चला की उसकी तबियत ख़राब है 

और एक सप्ताह के लिए डॉक्टर ने उसे आराम करने के लिए कहा है और जैसे ही ये बात मुझे पता चली मुझे लगने लगा कि एक सप्ताह और मै रोज ये सोचता कि कब वो कॉलेज आएगी।

आखिरकार वो शनिवार को कॉलेज आई मैं बिना Time Waste किए उसके पास गया 
और बोला: Hii  ' Nidhi '

उसने मुझे Ignore कर दिया और मुझे बुरा लगा लेकिन मैंने उसे फिर बोला: Hii  ' Nidhi '

I'm Really Sorry मुझे तुमसे ऐसे बात नहीं करनी चाहिए थी

इतना सुनते ही वो बोली: तुम , तुम कही दोबारा तो ऐसा नहीं करोगे न !

मैंने मुस्कुराते हुए कहा नही बाबा कभी नही

तो उसने कहा: Friends ? मैंने भी कहा: Ok Friends !

Emotional love Story in Hindi
Emotional love Story in Hindi | मेरा प्यार अधूरा होकर भी पूरा था

फिर हमारी बाते होने लगी और उसने मुझे बताया की वो मुझे वो 1st Day से ही Observe कर रही थी और उसने मुझे पूछा तुम इतने गुमसुम क्यों रहते हो


फिर मैंने Pause लिया और बोला नही कुछ नही और उसने मुझे बड़े प्यार से अपनी कसम देकर सब पूछ लिया और उसके बाद हमारी बातचीत और भी गहरी हो गयी 

हमने एक दूसरे से Mob No. एक्सचेंज किया और फिर हमारी बाते घंटो तक होने लगी  इसी बिच हमारी ग्रेजुएशन पूरी  हो गयी मेरी जॉब लग गई 

और हम एक दूसरे के साथ और ज्यादा टाइम स्पेंड करने लगे।

एक दिन अचानक मुझे उसका फ़ोन आता है और वो घबराते हुए कहती है: र.र.र.र. रोहन

मैंने कहा निधि , निधि क्या हुआ फिर उसने जो बताया उससे मेरे पैरो तले की जमीन घिसक गयी उसने कहा रोहन पापा ने मेरी शादी तय कर दी है, मैंने कहा: क्या और तुमने कुछ नहीं कहा,


Emotional love Story in Hindi

तो उसने बताया की उसको भी अभी पता चला है मैंने उसे समझाते हुए कहा कि रुको मै कल अपनी फैमिली को लेकर तुम्हारे यहां आता हूं और हम शादी की बात करेंगे

अगले दिन मैं अपनी फैमिली को लेकर उसके यहाँ पंहुचा और मैंने उसे अपनी Family से परिचय कराया और उसने अपनी Family से 

और फिर हमारी Family ने एक दूसरे से बात करने लगी और आखरी में उसकी Family ने सिर्फ इसलिए मना कर दिया क्योंकि हमारी Caste Same नहीं थी


मैंने, मेरी Family ने और खुद निधि ने भी अपने पापा को समझाया लेकिन वो नही माने और उसकी शादी को और जल्दी करने की धमकी दी उसकी Mobile तक छीन ली और उसे एक कमरे मेँ बंद कर दिया

जब मुझे ये बात पता चली तो मैं घबरा गया और उसकी मम्मी को मना लिया की वो मेरी आखरी बार  निधि से बात करा दे 

और उन्होंने मुझे शाम को जब उसके पापा नही रहते थे, कॉल किया और बोली रोहन ये लास्ट टाइम है इसके बाद तुम दोनों के बीच कुछ भी नहीं रहना चाहिए और उससे फ़ोन देकर चली गयी। 

Emotional love Story in Hindi

उसने फ़ोन पकड़ा और मेरे यानि रोहन और उसके यानि निधि के बीच बात हुई :

Nidhi: Hello ( इतना सुनते ही मैं रोने लगा और मुझे चुप कराते - कराते वो भी रोने लगी कुछ देर बाद हमने एक दूसरे को चुप कराया )

Rohan: तुम , तुम ठीक तो हो ना ?

Nidhi: मै ठीक हू और हां तुम डरना मत की मै आत्महत्या कर लुंगी चिंता मत करो मैं ऐसा कुछ भी नही करुँगी ( रोहन की जान में जान आयी )

Rohan: एक बात बोलूं !

Nidhi: बिलकुल ;
Rohan: कितना अच्छा होता ना अगर दुनिया में Caste नाम की कोई चीज नहीं होती तो लाइफ कितनी अच्छी होती ;

Nidhi: हा ये तो है लेकिन ऐसा है नहीं !
Rohan: मुझे पता है मैं लाइफ में बहुत कुछ खोने वाला हूँ !

Emotional love Story in Hindi
Emotional love Story in Hindi | मेरा प्यार अधूरा होकर भी पूरा था

Nidhi: कुछ खोने के बाद बहुत कुछ अच्छा भी मिले शायद इसीलिए ज्यादा मत सोचो ( मुझे समझाने की कोशिश कर रही है )
Rohan: मुझे कुछ नहीं चाहिए यार बस तुम मिल जाओ इतना काफी है ;

Nidhi: नहीं मुझे तो आपके लिए मुझसे भी अच्छी लड़की चाहिए ,
Rohan: लेकिन मेरे दिल को तुम पसन्द हो ,

Nidhi: हां जो आपको बहुत प्यार करे, बहुत खुशियाँ दे और आपको एक छोटी सी क्यूट सी परी भी दे ;
Rohan: तुम सब खुछ कितने आसानी से बोल देती हो :

Nidhi: हाँ ( दु:खी हो गयी क्योंकि किसी के लिए भी अपना प्यार दूसरे को देना आसान नहीं होता  है )
Rohan: चलो न कही भाग चलते है यार जहाँ बस मै और तुम हो

Nidhi: नही न  मै आपके फॅमिली और अपनी फॅमिली दोनों की सम्मान करती हूँ और उनका झुका हुआ सर नहीं देख सकती हूँ मै मजबूर हूँ !

Rohan: मै भी तो हूँ पर मैं तुम्हारे आलावा किसी और से प्यार नही कर पाउँगा

Nidhi: ज़रूरी नहीं कि हमेशा प्यार मिल ही जाये, दूर रहकर भी आप हमेशा मेरे दिल में रहोगे मैं आपको बहुत Miss करुँगी
Rohan: मैं भी " मुझे पता है तुम की रो रही हो "

Nidhi: आपसे बेहतर  मुझे भला और कौन समझ सकता हैं
Rohan: रो मत पगली मुझे तुम्हारे चेहरे पे Smile अच्छी लगती है तुम्हारी बहती हुई नाक नही

Nidhi: पहले आप रोना बंद करो
Rohan: मैं, मैं कहा रो रहा हूँ

Nidhi: शायद आप भूल रहे है, आपको भी मुझसे बेहतर कोई नही समझ सकता
Rohan: I love you यार पता नही कैसे जियूँगा तुम्हारे बिना

Nidhi: वक्त सब ठीक कर देगा ;
Rohan: काश ! सब ठीक हो पता !

Nidhi: Good Bye पापा के आने का वक्त हो गया है।
Rohan: और हमने रोते हुए कॉल डिसकनेक्ट कर दिया।

अगर मैं चाहता तो निधि से बिना उसके घरवालों की मर्जी के शादी कर लेता और इसके लिए मेरी Family तैयार थी

Emotional love Story in Hindi

पर दूसरी तरफ जब मैंने निधि के पिता को देखा तो मुझे गलत लगने लगा मेरी एक गलती कि वजह से निधि अपने परिवार से हमेशा के लिए दूर हो जाती

और निधि इससे कभी खुश नहीं होती और सारी जिंदगी मै खुदको माफ नहीं कर पाता इसलिए मैंने निधि को भूल जाने का फैसला लिया

मेरा प्यार तो सच्चा था पर शायद ये उस उपर वाले को मंजूर नहीं था और मैंने निधि को कभी उसके घरवालों के खिलाफ नहीं अपनाना चाहता था

शायद इसीलिए मेरा प्यार सच्चा होकर भी अधूरा ही रह गया पर मुझे फक्र है कि मैंने भी ऐसी मोहब्बत की है


जिंदगी में कभी प्यार करने का
मन हो तो अपने,
दुःख से प्यार करना क्योकि
दुनिया का दस्तूर है
जिसे जितना चाहोगे
उसे उतना दूर पाओगे

दोस्तो उम्मीद है आपको ये Emotional love Story in Hindi | मेरा प्यार अधूरा होकर भी पूरा था  पसंद आयी होगी अगर आपको ये Emotional love Story in Hindi अच्छी लगी हो तो हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं और अगर इस कहानी ने आपके दिल को भी छू लिया हो तो इसे शेयर भी जरूर करे  


ये भी पढ़ें:-