एक बार कि बात है अमेरिका में एक बहुत ही खतरनाक अपराधी था जिसे कोई पकड़ नहीं पा रहा था उसने कई लोगो को मारा था,

ऐसा नहीं था कि उसे कोई पकड़ नहीं पा रहा था वो बार बार पकड़ा जाता और बार बार भागने ने कामयाब हो जाता,


Inspirational Moral Stories in Hindi


फिर वहा कि सरकार ने तंग आकर वहा के सबसे अच्छे पुलिस अधिकारी को उसे पकड़ने का जिम्मा दिया गया कि जाइये और इस अपराधी को पकड़िए,

उन्होंने पूरी योजना बनाई कि कैसे उसे अपने जाल में फसना है और उसे पकड़ना है, अन्ततः वो अपराधी पकड़ा गया और उसे जेल में डाल दिया गया।

जेल के बार उसकी पेशी हुई हर बार सुनवाई टाल दी जाती कई सालो की सुनवाई के बाद उसे फासी की सजा सुनाई गई और कहा कि इसके जीने का कोई मतलब नहीं है,

जिसने इतने मासूम लोगों की जान ली है और इतने बुरे काम किए है कि इसे जीने का कोई हक नहीं है इसे फांसी दे दी जाए।


Inspirational Moral Stories in Hindi
Inspirational Moral Stories in Hindi

उसे फांसी कि सजा हुई जब ये बात वहा के लोगो को पता चली तो लोग बहुत खुश हुए की Finally उसे सजा मिल ही गई,

लेकिन अमेरिका के जो डाक्टर थे उन्होंने सोचा कि इसे तो फांसी की सजा हो ही गई है तो क्यों ना इसपर एक छोटा सा प्रयोग किया जाय।

डाक्टर जज के पास पहुंचे उन्होंने वहां से इजाजत ली और जेल में उस कैदी से मिलने चले गए और वहा जाकर उसे सब बताया,

उन्होंने कहा कि हम आप पर एक छोटा सा प्रयोग करना चाहते है वैसे भी आपको फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है आप मारने वाले है,

लेकिन हम आपको फांसी कि सजा ना देकर एक जहरीले सांप से कटवाएंगे हो सकता है उसके जहर से आपकी मौत हो जाए तो आपकी सजा पूरी हो जाएगी,

लेकिन अगर उसका जहर आपके शरीर में नहीं फैलता है और आपकी मौत नहीं होती है तो हम आपको रिहा कर देंगे,


IAS Motivational Story in Hindi


अपराधी ने सोचा मै तो वैसे भी मारने ही वाला हूं क्यों ना इस प्रयोग को ही करा लूं हो सकता है भगवान मुझे सुधरने का एक मौका दे दे,

उसने कुछ देर सोचा और कहा ठीक है मै इस प्रयोग के लिए तैयार हूं  डाक्टर वहा से चले गए लेकिन ये कैदी पूरी रात सोचता रहा को कल क्या होगा,

इसे रात भर नींद नहीं आयी वो सोचता रहा को सांप आएगा और उसे काटेगा उसने अपनी पूरी जिंदगी में कभी ऐसा अनुभव नहीं किया था,

वो सोचा रहा था कि सांप के काटने से दर्द होगा या नहीं मै बचूंगा या नहीं ये सब सोचते सोचते सुबह हो गई और उसे नींद नहीं आयी,

सुबह हो गई सब लोग आए उसे दूसरे कमरे में ले जाया गया जहां पहले से ही कई डाक्टर मौजूद थे उस एक कुर्सी पर बैठाया गया उस घबराहट हो रही थी कि अब उसके साथ क्या होगा,

उसके आंखो पर पट्टी बांधी गई लेकिन उसने कहा कि मुझे पहले उस सांप को देखना है जो शायद आज मेरी मौत की वजह बनने वाला है,


Motivational Kahaniya


क्योंकि ये उसकी आखरी इच्छा थी तो उसे वो सांप लाकर दिखाया गया वो सांप लगभग पांच फीट का था उस कैदी ने मन में ही सोच लिया कि उसके बचने की कोई उम्मीद नहीं है,

फिर उसकी आंखो पर पट्टी बांधा गया और सांप को उसके पास लाया गया सांप इतना भयानक था कि उसके फूकने की आवाज उस साफ साफ सुनाई दे रही थी,

Finally उसे सांप से कटवाने कि बारी आती है लेकिन उसे सांप से ना कटवा कर सिर्फ दो छोटी छोटी सेफ्टी पिन चुभाई जाती है और कुछ ही मिनटों में उसकी मौत हो जाती है।

इसके बाद जब उसका Postmortem कराया गया तो उसमे एक हैरान करने वाली बात सामने आई, उस अपराधी की मौत की वजह उस सांप का जहर बताया गया,

लेकिन उसे तो किसी सांप से कटवाया ही नहीं गया था तो ये जहर उसके शरीर में कहा से आया,


Inspirational Story in Hindi Language


दरअसल ये जहर उसके शरीर ने खुद ही पैदा किया क्योंकि उसे बताया गया था कि उसे एक सांप से कटवाया जाएगा और उसे लगा कि सांप ने उस काट लिया है,

ना की उस कोई सेफ्टी पिन चुभोई गई थी यही सोचकर उसके दिमाग ने उसके शरीर में ये जहर बना दिया और उस अपराधी की मौत हो गई।

ये छोटी सी कहानी हमे बहुत कुछ सिखाती है बड़ी सारी समस्याएं तो सिर्फ इस वजह से है कि हम सोचते है की वो समस्याएं है,

जबकि असल में ऐसी कोई समस्या होती ही नहीं है बस हम मान लेते है और वो समस्याएं अपने आप पैदा हो जाती हैं।

किसी ने बड़े कमाल की बात कही है कि मन के हारे हार है मन के जीते जीत

रविन्द्र नाथ टैगोर की ने कहा है एक बच्चे को आग के पास जाने से रोकना नहीं चाहिए जब उस जलन लगेगी गर्मी लगेगी तो दोबारा वो उस आग के पास कभी नहीं जाएगा


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करके आप हमारा मनोबल बढ़ा सकते हैं

अगर आप हमारी कहानी को Miss नहीं करना चाहते तो कृपया इस Site को Follow कर ले, आपको यह कहानी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद!